charcha me| 

सियासत

 |  4-मिनट में पढ़ें  |   11-10-2017
अशोक उपाध्याय
अशोक उपाध्याय
  @ashok.upadhyay.12
  • Total Shares

'विकास गांडो थायो छे' यानी विकास पागल हो गया है. गुजरात में सोशल मीडिया पर लोग इस हैश टैग और कैप्शन के साथ कई तरह की तस्वीरें शेयर कर रहे हैं. साथ ही विकास का मज़ाक भी उड़ाया जा रहा है. गुजरात में दो महीने बाद चुनाव होने वाले हैं. गुजरात के विकास मॉडल ने नरेंद्र मोदी को दिल्ली के तख़्त तक पहुंचा दिया था.

ठीक उसी तरह अमेठी गांधी परिवार के लिए विकास का एक अलग मॉडल रहा है. पिछले 37 सालों से, केवल दो मौकों को छोड़कर, इस सीट पर गांधी परिवार का ही कब्ज़ा रहा है. गांधी परिवार ने अपने इस वर्चस्व के बदौलत कई बार देश पर राज किया है. आज भाजपा उनके इस विकास मॉडल का मजाक उड़ा रही है.

rahul gandhi, amit shahआरोपों प्रत्यारोपों का दौर जारी है

10 अक्टूबर को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह अमेठी में राहुल गांधी से विकास का हिसाब मांग रहे थे. वहीं कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गुजरात में भाजपा से. अमित शाह ने राहुल के गढ़ अमेठी में घुस के उनपर एवं उनकी पार्टी पर तीखा हमला बोला. उन्होंने कहा कि- 'अमेठी नेहरू गांधी का गृह क्षेत्र है पर जब तक बीजेपी की सरकार नहीं आई तब तक अमेठी के विकास के लिए कुछ हुआ है?' राहुल से सवाल पूछते हुए अमित शाह ने कहा कि- 'मैं कांग्रेस के शहजादे राहुल गांधी से पूछना चाहता हूं की तीन पीढ़ियों तक अमेठी की जनता ने वोट दिया. आप हमारे तीन साल का हिसाब मांगते हो. अमेठी की जनता तीन पीढ़ी का हिसाब मांगती है.' उन्होंने पूछा कि 'अब तक अमेठी में कलेक्टर ऑफिस क्यों नहीं बना? गरीबों को आवास क्यों नहीं मिले? टीवी अस्पताल क्यों नहीं बना? आकाशवाणी का एफएम क्यों नहीं बना?' अमित शाह ने रैली में घोषणा की कि- 'यूपी को 2022 तक गुजरात जैसा बनाएंगे.'

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 3 दिन के गुजरात दौरे पर हैं. पिछले 10 दिनों में राज्य में ये उनका दूसरा दौरा है. खेड़ा में एक जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल ने एक बार फिर विकास का मुद्दा उठाया. कांग्रेस उपाध्यक्ष ने लोगों से पूछा, ‘गुजरात में विकास को क्या हुआ? ये कैसे पागल हुआ?’ उन्होंने कहा कि- 'गुजरात में झूठ सुन-सुनकर विकास पागल हो गया है.' और तो और उन्होंने इस पर लोगों से भी हामी भराई. रोजगार सृजन के मामले में मोदी सरकार के विफलता पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा- 'देश में 24 घंटे में 30 हजार नए युवक रोजगार ढ़ूढ़ने निकलते हैं. लेकिन मोदी जी की सरकार 450 युवाओं को रोजगार दे पाती है. चीन हर रोज 50 हजार युवाओं को रोजगार देता है.' राहुल गांधी ने पूछा कि नरेंद्र मोदी का गुजरात मॉडल क्या है? 'पैसा है तो नौकरी मिलेगी, पैसा है तो जमीन मिलेगी, पैसा हो तो स्वास्थ्य मिलेगा. पैसा नहीं है तो जाओ भाड़ में. मोदी का गुजरात मॉडल फेल है.'

इनके बातों से ये साफ़ है की इस देश में विकास के दो मॉडल हैं. एक गांधी परिवार का मॉडल और दूसरा मोदी मॉडल. यानी एक कांग्रेस मॉडल औक एक भाजपा मॉडल. दोनों दल एक दूसरे के मॉडल को असफल और फ्लॉप बता रहे हैं. दोनों एक दूसरे को भ्रष्ट बता रहे हैं. अमित शाह के बेटे जय शाह की कंपनी पर लगे आरोपों पर राहुल गांधी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल @OfficeofRG से एक ट्वीट किया गया है. इसमें सीधा पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला किया गया है.

इस ट्वीट में कहा गया है- 'मोदी जी, जय शाह- 'जादा' खा गया. आप चौकीदार थे या भागीदार? कुछ तो बोलिए.' दूसरी तरफ अमित शाह ने अमेठी में राहुल गांधी के परनाना, दादी और माता-पिता का जिक्र करते हुए कहा कि- 'सब सत्ता में रहे लेकिन यहां कोई काम नहीं हुआ.' अमित शाह अमेठी की धरती से राहुल गांधी को कांग्रेस का शहजादा कह के सम्बोधित कर रहे थे. तो वहीं राहुल उनके बेटे को उनके गृह प्रदेश से शाह- 'जादा' कह के बुला रहे थे. राजनीतिक रूप से ये लड़ाई बड़े दिलचस्प मोड़ पर आ गई है. राहुल गांधी, नरेंद्र मोदी के गढ़ गुजरात को ध्वस्त करना चाहते हैं. तो अमित शाह गांधी परिवार के किले अमेठी को नेस्तनाबूद करना चाहते हैं. अब समय ही बताएगा की शहजादा मॉडल सफल होगा या शाह- 'जादा' मॉडल.

ये भी पढ़ें-

आस्था के भरोसे गुजरात सत्ता की आस!

विकास बनाम भ्रष्टाचार की जंग सड़क से सोशल मीडिया तक - चुनाव आने वाले हैं!

अमेठी के बाद मुलायम और डिंपल की सीटों पर भी बीजेपी की नजर...

लेखक

अशोक उपाध्याय अशोक उपाध्याय @ashok.upadhyay.12

लेखक इंडिया टुडे चैनल में एडिटर हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय