charcha me |  

इकोनॉमी

 |  3-मिनट में पढ़ें  |   13-02-2017
मोहित चतुर्वेदी
मोहित चतुर्वेदी
  @mohitchaturvedi123
  • Total Shares

पाकिस्तान एक और ना 'पाक' कोशिश में लगा है. जी हां, पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान ने 2000 रुपए के नकली नोट बनाना शुरू कर दिए हैं. बोर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) और नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने हाल ही में नकली नोट बरामद किए थे. तस्कर 2000 हजार रुपए का नोट 400 से 600 रुपए में बेच रहे हैं. 2000 रुपये के नकली नोटों की पिछले एक महीने से सीमा पर पकड़ी जा रही खेपों से अर्धसैनिक बलों और खुफिया एजेंसियों की नींदें उड़ी हुई हैं. ऐसे में आम लोगों के लिए नोट का असली नकली में फर्क करने की समझ होना जरूरी है. तो आइए जानते हैं 2000 रुपए के नोटों में कैसे करें असली-नकली में फर्क...

2000 के असली नोट की पहचान

1_021317040210.jpg*नोट को लाइट के सामने रखने पर यहां 2000 लिखा मिलेगा।

2_021317040243.jpg*आंखों के सामने 45 डिग्री पर रखने से यहां नोट के अंदर 2000 लिखा मिलेगा।

3_021317040257.jpg* यहां पर देवनागरी लिपि (हिंदी भाषा के अंक) में रुपये के चिह्न (₹) के साथ 2000 अंकित है।

4_021317040342.jpg* ध्यान से देखने पर यहां पर RBI और 2000 लिखे मिलेंगे।

5_021317051709.jpg* इस सिक्यॉरिटी थ्रेड में देवनागरी लिपि में भारत और 200 लिखे हैं। साथ ही ऊपर से इसका हरा दिखने वाला रंग नोट को टेढ़ा करने पर नीला हो जाता है।

6_021317040416.jpg* महात्मा गांधी की तस्वीर का वॉटरमार्क और इलेक्ट्रोटाइप 2000 वॉटरमार्क।

7_021317040434.jpg* नंबर पैनल पर नोट के ऊपर बाएं हिस्से में और नीचे दाहिने हिस्से में छोटे से बड़े होते अंक लिखे हैं।

8_021317040453.jpg* यहां पर रुपए के चिह्न के साथ 2000 अंकित है। इसका रंग भी बदलता है।

9_021317040511.jpg* नोट के राइट साइड में अशोक स्तंभ की तस्वीर और नीचे सत्यमेव जयते लिखा है। दृष्टिहीनों के लिए महात्मा गांधी और अशोक स्तंभ की तस्वीरें उभरी हुई हैं।

10_021317040549.jpg* यहां पर हॉरिजॉंटल आयत में 2000 का प्रिंट उभरा हुआ है।

11_021317040605.jpg* नोट के बाएं और दाहिने भाग में कोण बनाते हुए सात लाइनें खींची हुई हैं।

12_021317040627.jpg* यहां पर नोट छपाई का साल लिखा होता है।

13_021317040719.jpg* यहां पर 15 भाषाओं में 2 हजार रुपया लिखा है।

ये भी पढ़ें- 

लो जी हो गई नोटबंदी !

नोटबंदी का मानसिक असर...

नोटबंदी के विरोध का तो सवाल ही नहीं उठता..

लेखक

मोहित चतुर्वेदी मोहित चतुर्वेदी @mohitchaturvedi123

लेखक इंडिया टुडे डिजिटल में पत्रकार हैं.

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय