charcha me| 

सिनेमा

 |  5-मिनट में पढ़ें  |   15-08-2017
सुनील राजगुरु
सुनील राजगुरु
  @sunilrajguru
  • Total Shares

खुले में शौच करना अभिशाप है. हाल ही में रीलिज हुई 'टॉयलेट एक प्रेम कथा' फिल्म में बॉलीवुड के सुपरस्टार अक्षय कुमार ने लोगों की मूलभूत जरुरत से जुड़े इस मुद्दे को उठाया. ये बॉलीवुड का स्वच्छ भारत कैंपेन है!

बॉलीवुड में अक्षय ही अकेले ऐसे अभिनेता हैं जिन्होंने मसाला फिल्मों के दौर में भी कई जरुरी मुद्दों को उठाया और क्लासिक फिल्में दी. एक तरह से कहें तो अक्षय के करियर की फिल्मों को दो भागों में बांटा जा सकता है. उनकी आधी फिल्में की फेहरिस्त में मसाला, कॉमेडी और एक्शन फिल्में आती हैं और आधी फिल्में बिल्कुल 'अलग' लीक से हटकर की श्रेणी में आती हैं जिन्हें सफलता भी खुब मिली.

तो चलिए आज आपको अक्षय कुमार के दस ऐसी फिल्मों की लिस्ट बताएं जिन्होंने अक्षय कुमार की छवि को ही बदल दिया-

1- हेरा फेरी (2000) : बेहतरीन कॉमेडी फिल्म

हर सुपरस्टार को बॉलीवुड में अपनी स्टार छवि बनाने के लिए अपने करियर में एक ब्लॉक-बस्टर फिल्म की जरुरत पड़ती है. अक्षय कुमार के लिए वो फिल्म हेरा-फेरी थी. कई लोग आज भी इसे आज तक की बेस्ट कॉमेडी फिल्म मानते हैं.

फिल्म की कहानी. स्क्रिप्ट. डायलॉग. कॉमिक सीन. अक्षय, सुनील शेट्टी और परेश रावल के बीच की केमेस्ट्री देखने लायक थी. इस फिल्म को चाहे जितनी भी बार देख लो हमेशा हंसी से लोटपोट होने की गारंटी होती है. इस फिल्म ने खिलाड़ी कुमार को कॉमेडी किंग के रुप में भी स्थापित कर दिया था.

Akshay Kumar, actor, Filmsखिलाड़ी से कॉमेडी किंग हो गए अक्षय

2- खाकी (2004): हकीकत के नजदीक पुलिसवाले की कहानी

अक्षय कुमार ने शायद सबसे ज्यादा पुलिस ऑफिसर के ही निभाए हैं. इस फिल्म में भी उन्होंने एक पुलिस ऑफिसर की यादगार भूमिका निभाई. ये अक्षय कुमार के उन शुरुआती फिल्मों में से एक थी जिसके जरिए उन्होंने साबित किया कि हिट होने के लिए रोमांटिक या घिसी-पिटी कॉमेडी फिल्मों की जरुरत नहीं.

Akshay Kumar, actor, Filmsपुलिस का किरदार निभाने में महारत हासिल है अक्षय को

3- ऐतराज(2004): महिलाएं भी यौन शोषण कर सकती हैं

ऐसे समय में जब हमारे बॉलीवुड में हीरो के चारो तरफ हिरोइनों को नाचते-घूमते दिखाया जाता था. तब अक्षय ने एक ऐसी फिल्म की जिसके बाद माना जाता है कि किसी हीरो का करियर खत्म हो सकता है. इस फिल्म में अक्षय कुमार ने ऐसे हीरो का किरदार निभाया जिसका एक महिला ने यौन शोषण किया था. इस फिल्म को दर्शकों ने हाथों-हाथ लिया और सुपरहिट साबित हुई.

Akshay Kumar, actor, Filmsमहिलाएं भी शोषण कर सकती हैं

4- भूल-भुलैया (2007): एक ऐसा मनोवैज्ञानिक जो रोमांस से दूर है

बॉलीवुड का एक मनोवैज्ञानिक जो रोमांस नहीं करता है. ये उन कुछ फिल्मों में से एक है जिसमें हीरो रोमांस नहीं करता. इस फिल्म में अक्षय कुमार ने एक मनोवैज्ञानिक रोल किया है जो एक भूतिया कहानी को हल करता है. हालांकि बॉलीवुड के लिए ये एक नया कॉन्सेप्ट था लेकिन फिर दर्शकों के बीच ये फिल्म सराही गई और सुपरहिट हुई.

5- ओएमजी- ओह माई गॉड! (2012): धर्म और धार्मिक कर्मकांडों पर कटाक्ष

शायद धर्म और उसके दर्शन पर बॉलीवुड में बनी सबसे सटीक फिल्म. हालांकि आमिर खान अभिनीत पीके ने ज्यादा कमाई की थी लेकिन ओएमजी ने धर्म और धर्म के ठेकेदारों की जड़ों पर गहरा वार किया था. इस फिल्म में अक्षय ने ऐसे भगवान की भूमिका निभाई थी जो मोटरसाइकिल पर घूमता है और फेसबुक पर भी एक्टिव होता है!

Akshay Kumar, actor, Filmsबुलेट पर चलने वाले भगवान!

6- स्पेशल 26(2013): हॉलीवुड की तर्ज पर बॉलीवुड की चोरी

स्मार्ट और शातिर चोरी की कहानियां सभी को पसंद आती है और हॉलीवुड ऐसे कॉन्सेप्ट पर फिल्मों से पटा पड़ा है. लेकिन हमारे बॉलीवुड में ऐसी फिल्मों का हमेशा से ही अकाल रहा है. स्पेशल 26 ने ना सिर्फ इस अकाल को खत्म किया बल्कि एक बेंचमार्क भी सेट कर दिया.

7- बेबी(2015): आतंकवाद के मुद्दे पर बनी बॉलीवुड की सबसे जीवंत फिल्म

अगर स्पेशल 26 ने चोरी की कहानियों के लिए बेंचमार्क सेट किया तो बेबी ने आतंकवाद के खात्मे पर बनने वाली फिल्मों के लिए बेंचमार्क सेट कर दिया. इस फिल्म ने साबित किया कि अगर बॉलीवुड चाहे तो हॉलीवुड को टक्कर दे सकता है.

8- गब्बर इज बैक(2015):

1970 के दशक में बॉलीवुड में एक एंग्री यंग मैन था. जिसपर 80 के दशक में कई तरह की पैरोडी बनी और 90 का रोमांटिक दशक आते-आते ये खत्म हो गया. लेकिन अक्षय कुमार ने इस एंग्री यंग मैन को एक नया ट्विस्ट देकर उसे चालाक और शातिर इंसान के तौर पर स्थापित कर दिया.

9- एयरलिफ्ट(2016):

हॉलीवुड की तुलना में हम अपने देश के वीरों से जुड़ी फिल्में बहुत ही कम बनाते हैं. 1990 में दो महीने के अंदर ही एयर इंडिया ने खाड़ी युद्ध से प्रभावित 1.75 लाख लोगों को कुवैत से बाहर निकाला. ये घटना गिनीज बुक में भी दर्ज हो गई.

10- रुस्तम(2016):

Akshay Kumar, actor, Films

इस फिल्म ने शायद कई बच्चों को इंडियन नेवी ज्वाइन करने के लिए प्रेरित किया. हालांकि इस फिल्म का कंटेंट बच्चों के देखने लायक नहीं था फिर भी. अक्षय बॉलीवुड के उन गिने-चुने सितारों में से हैं जो उम्र बढ़ने के साथ ही और हैंडसम होते गए. यही कारण है कि स्क्रीन पर डिफेंस ऑफिसर के तौर पर अक्षय बहुत ही हैंडसम लगे हैं.

इस फिल्म के शुरुआत से अंत तक सस्पेंस का तड़का है. ये जानते हुए भी कि अंत में अक्षय को छूटना ही है लेकिन फिर भी लोगों ने उत्सुकता के साथ पूरी फिल्म देखी.

2018 में अपनी आने वाली फिल्म पैडमैन से अक्षय एक और रियल लाइफ स्टोरी को रील पर उतारने वाले हैं. 90 के दशक में अक्षय ने खुद को एक सामान्य रोमांटिक हीरो की तरह स्थापित किया लेकिन उसके बाद उन्होंने जो रंग बदले उसे देख लोग दांतों तले उंगलियां दबा लेते हैं.

(DailyO से साभार)

ये भी पढ़ें-

टॉयलेट एक प्रेम कथा- एक अच्‍छी फिल्म, जिसे सरकारी घोषणा-पत्र बनाकर बर्बाद कर दिया

शादी से पहले किशोर कुमार पेड़ों को बांह में भरकर शाम गुजारा करते थे !

लेखक

सुनील राजगुरु सुनील राजगुरु @sunilrajguru

लेखक बेंगलुरु में रहते हैं और ब्लॉगिंग करते हैं

iChowk का खास कंटेंट पाने के लिए फेसबुक पर लाइक करें.

आपकी राय